दोस्तों सिनेमा हॉल मै आज कल बहोत से थिएटर है जैसे I MAX Theatre, Dolby Theatre,Screen X ऐसे बहोत से थिएटर है लेकिन आज हम जिस थिएटर की बात करेंगे वो है 4DX थिएटर !

2D,3D,4D D का मतलब होता है डाइमेंशन जैसे 2D मै सिर्फ दो ही डाइमेंशन होते है लेंथ और हाइट तो इसमें पिक्चर फ्लैट से लगता है मगर 3D मै एक और डाइमेंशन होता है डेप्थ का जिससे हमें लाइफ लाइक पिक्चर एक्सप्रिएंस कर पाते है जिससे हम चीज़ो को महेसुस कर पाते है की कौनसी चीज़े नज़दीक है कौनसी चीज़े दूर है !

इसके बाद 4D मै हमें स्क्रीन मै नहीं बल्कि थिएटर मै रियल चीज़े महसूस करवाते है जैसे बारिश हवा आदि !
को हमें महसूस करवाया जाता है जिससे CT 4DX कंपनी 2009 मै लेकर आई थी 4DX को और पहेली 4DX मूवी थी जर्नी ऑफ़ टू थे सेंटर ऑफ़ थे अर्थ और इसके बाद बहोत सी 4DX मूवीज आई और यह टेक्नोलॉजी दुनिया भर मै फेमस हो गयी !

4DX सिनेमा मै हमें बहोत से फीचर देखने को मिलते है जैसे चेयर का हिलना जो मूवीज सीन्स के हिसाब से हिलती है इसमें पहला जो मूवमेंट होता है वो है Roll का जिसमे कुर्सियां लेफ्ट राइट हिलती है Heave मै ऊपर निचे होगा पिच मै आगे पीछे होगा और sway और twist मै साइड मै मूव होगा इसके अलावा सीट्स मै वैबरेशन भी होता है और ये सभी मूवमेंट मूवी के हिसाब से होता है जैसे मूवी के सीन्स होते है वैसे ही मूवमेंट चेयर मै होते है !

यह था पहला फीचर 4DX सिनेमा का इसके अलावा रेन का यानि बारिश का फीचर भी है जिसमे अगर मूवी मै रेन का सीन्स होगा तो वाटर आपके चहरे पर भी गिरेगा आप भीगेंगे नहीं बस आपको फील होगा इसके अलावा बॉबल्स का फीचर भी परफ्यूम का फीचर भी जिससे की अगर मूवीज मै ऐसा सीन्स आता है तो आप भी उसे महसूस कर पाते है !

इसके अलावा एयर का फीचर है जिसमे हवा आपके सामने और कानो के पीछे लगी चेयर से निकलती है और इसके अलावा आंधी जैसे सीन्स के लिए बड़े पंखे भी लगे होते है जिससे एयर वाले सीन्स के समय आपको रियल मै महसूस करवाता है !

इसके अलावा बिजली का इफ़ेक्ट भी और इसके अलावा स्नो का इफ़ेक्ट और रेन और हवा दोनों का इफ़ेक्ट भी यह इफ़ेक्ट मौसम ख़राब होने वाले सीन्स के लिए है इसके अलावा आपको फॉक्स का इफ़ेक्ट भी देखने को मिल जाता है और यह सभी इफ़ेक्ट पुरे एरिया को कवर किये हुए रहते है जो आपको रियल लाइफ जैसा महसूस करवाते है !

4DX मै स्क्रीन वगेरा सभी नार्मल होते है वॉइस भी वही होते है बस ये 20 इफ़ेक्ट इसे 4DX बनाते है 4DX को अगर I MAX से देखे तो I MAX की पिक्चर क्वालिटी बहोत हाई होती है और स्क्रीन भी बहोत बड़ी होती है इसके अलावा Dolby की भी 4DX के मुकाबले बहोत बड़ी स्क्रीन होती है कुछ लोगो को हिलना डुलना ज्यादा पसंद नहीं होता तो वही 4DX सिनेमा को इतना ज्यादा पसंद नहीं करते तो यही था 4DX सिनेमा !