परिस्थतिया चाहे कितनी भयानक और गंभीर क्यों ना हो लेकिन अपनी सूझ भुज से उसका सामना करके हम उसका हल निकाल सकते है और यही सोच रखने वाले और दुनिया को एक अच्छा सन्देश देने वाले बेयर ग्रिल्स दुनिया भर मै पॉपुलर है तो चलिए आज हम इनकी सफलता की कहानी को जानेंगे !

बेयर ग्रिल्स के फैन दुनिया भर मै है और भारत मै भी इनके चाहने वालों की कमी नहीं है लेकिन उनके जितना सफर तय कर पाना हर किसी के बस की बात नहीं है वो कई बार मरते मरते बचे है और बहोत बार घायल भी हुए है !

तो इस कहानी की शुरआत होती है 7 जून 1974 से जब नार्थ आयरलैंड मै एडवर्ड माइकल ग्रीलेस का जन्म हुआ उनके पिता का नाम SIR MICHAEL GRYLLS और उनकी माता का नाम SARAH GRYLLS और उनकी एक बड़ी बहन भी है जिन्होंने एडवर्ड माइकल ग्रिल्स को बेयर नाम दिया !

बेयर को बचपन से ही एडवेंचर का शोक था इसलिए उन्होंने बचपन मै ही माउंट राइडिंग और भी बहोत चीज़े सीखी और उन्होंने कराटे मै ब्लैक बेल्ट भी हासिल की !

और अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत भी आये थे यहां पर उन्होंने सिक्किम और पश्चिम बंगाल के पहाड़ो पर चढ़ाई भी की वह इंडियन आर्मी से बहोत प्रभावित थे और एक टाइम ऐसा भी था जब वो इंडियन आर्मी ज्वाइन करना चाहते थे और फिर 1994 मै उन्होंने ब्रिटिश आर्मी ज्वाइन की !

लेकिन 1997 मै उनके साथ बहोत बुरा हुआ क्या हुआ की एक टाइम उनका पेराशूट नहीं खुला जिस वजह से वो सीधे जमीन से जा टकराये और उनको इतनी गहरी चोट लगी की महीनों तक उन्हें हॉस्पिटल मै भर्ती होना पड़ा लेकिन बहोत जल्द वो ठीक हो गए लेकिन इस हास्दे के बाद वह आर्मी से अलविदा हो गए !

इसके बाद उन्होंने अपने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के सपने को पूरा किया और 23 साल की कम उम्र मै यह कारनामा करने वाले वह पहले ब्रिटीशियर बने और उन्होंने ऐसे और भी बहोत रोमांचक एडवेंचर किये !

वह टेलीविशन पर एक ऐड के व्दारा नज़र आये और उसके बाद वह एक शो एस्केप थे लिएजिओन मै भी नज़र आये और इसके बाद वह उस शो मै नज़र आये जिनसे उन्हें पूरी दुनिया मै फेमस कर दिया यानि मैन वस वाइल्ड !

और इनकी अगर पर्सनल लाइफ की बात करेंगे तो इन्होंने सन 2000 मै शारा ग्रिल्स नाम की लड़की से शादी की जिनसे उन्हें तीन बच्चे भी है !

तो यही थी एडवेंचर बेयर ग्रिल्स की कहानी उम्मीद है इस स्टोरी से आपको बहोत कुछ सिखने को मिला होगा !