दोस्तों मै जब छोटा हुआ करता था तो मेरे मन मै एल ख्याल हमेशा आता था और कभी ना कभी कही ना कही आपके मन मै भी ये ख्याल हमेशा आया होगा की अगर सरकार के पास मै नोट छापने की मशीन है तो क्यों ना वो बहोत सारे नोट छापकर गरीबो मै बाट देती ना तो कोई किसान आत्महत्या करेगा गरीबी की वज़ह से ना तो किसी को बाहर देश मै जाना होगा काम करने के लिए और ना तो किसी टेक्स भरना होगा महीने के महीने तो आज हम इसी के बारे मै बात करेंगे !

दोस्तों कोई भी काम बिना वज़ह के नहीं होता उसके पीछे कोई ना कोई वज़ह तो होती ही है तो आज हम उसी के बारे मै बात करेंगे की क्या वज़ह है जिससे सरकार बहोत सारे नोट नहीं छापती तो दोस्तों एक वजह होती है inflation आपको मै एक example के थुरु समझाता हु जैसे "5 लोग है उनके पास है 5000 रुपया है अब उनको खाने के लिए राशन लेने जाना है और राशन का बिल हुआ 5000 उन्होंने 5000 दुकानदार को दे दिए अब सोचिये वही पर अगर सभी के पास नोट छापने वाली मशीन आ जाये और जहा पर उनके पास 5000 थे अब उन्होंने छाप लिए 50 हज़ार रूपये अब वो राशन लेने गए और दुकानदार ने बिल दे दिया पुरे 50 हज़ार का क्यों जरा सोचिये उस दुकानदार के पास मै भी नोट छापने वाली मशीन है तो वो 5000 का ही क्यों बचेगा घुमा फिरा कर बात इतनी ही है अगर आप सब के पास नोट छापने वाली मशीन आ जाये तो उसका कोई फायदा नहीं क्यों जहा पर आप एक कोलगेट भी 17 रुपया का लेते हो तो उसका दाम भी बढ़कर 1700 रुपया हो जायेगा !

वैसे तो इन बातो का सभी देशों का पता है इसलिए कोई भी देश ऐसी गलती नहीं करता पर फिर भी 2 देश ऐसे है जिन्होंने यह गलती करने की भूल की जिनमे से एक है जर्मनी एक बार क्या हुआ जर्मनी को एक युद्ध करना था पर उसके पास मै इतना पैसा नहीं था तो उसने क्या किया की अपने आस पास मै जितने भी देश थे सबसे पैसे उधार ले लिए पर हुआ क्या किया की वो युद्ध हार गया और उसपर कर्जा हो गया और फिर उन्होंने क्या किया की वहाँ पर उन्होंने बहोत सारे नोट छाप डाले जिससे वहाँ की सारी अर्थव्यवस्था बिगड़ गयी !

इसी तरह एक और देश है जिसका नाम जिमबॉम्बे है इन्होने भी क्या किया की बहोत सारे नोट छाप डाले जिसके परिणामस्वरुप क्या हुआ जैसे मै ऊपर बताया था वहा की महँगाई बहोत भाड़ गयी एक एक सामान लेने के लिए भर भर के बेग देने पड़ते था बच्चा बच्चा भर भर के बेग लेकर घूम रहे थे !

तो इसलिए सरकार ईतने सारे नोट नहीं छापती तो इन सब चीज़ो को कौन देखता है इन्हे देखता है किसी भी देश का सेंट्रल बैंक जैसे भारत का बैंक है RBI यानि Reserve Bank Of India तो इनका भी नोट छापने की एक लिमिट होती है जिससे कहते है MRS यानि Minimum Reserve System यह बैंक एक बार मै 200 करोड़ रूपये की लिमिट होती है जिसमे 115 करोड़ का सोना और 85 करोड़ की form currency को reserve मै रखता है जब ये पैसे वो रखता है उसके बाद उनके पैसो को रिलीज़ करता है यही तरीका होता है currency को प्रिंट करने का तो अब तो आपको पता लग ही गया होगा की सरकार सभी को नोट छापने वाली मशीन क्यों नहीं बाट देती !

तो अभी के लिए सिर्फ इतना ही उम्मीद है आपको यह आर्टिक्ल पसन्द आया होगा तो मिलते है आपसे अगले आर्टिक्ल मै !