He'llo राधे राधे कैसे है आप लोग आज का आर्टिक्ल बहोत ज्यादा इंट्रेस्टिंग होने वाले है क्योंकि आज के आर्टिकल मै मै आप लोग को बताऊंगा की कैसे आप जल्द से जल्द अपना एडसेंस अकॉउंट को अपूर्व करा सकते है और मैंने कैसे मेरा एडसेंस अकाउंट अपूर्व कराया मुझे किन किन मुसीबतों का सामना करना पड़ा सारी बात जानेंगे आप आज के आर्टिकल मै तो चलिए आज का आर्टिकल शुरू करते है !

यह स्टोरी है की कैसे मैंने monurajput.com डोमेन को एडसेंस मै अपूर्व कराया और किन किन मुसीबतो का मुझे सामना करना पड़ा !

दोस्तों गूगल पर आपको ऐसे बहोत से आर्टिकल मिल जाएंगे इसी टॉपिक पर और मुझे पता है की इस टॉपिक पर बहोत अधिक कम्पटीशन है लेकिन मैंने ये पोस्ट इसलिए लिखा है की चाहे जितने भी लोग इस आर्टिकल को पढ़े वो मेरी स्टोरी से सिख सके और जल्द से जल्द अपना एडसेंस अकॉउंट अपूर्व करा सके !

जब मैंने अपना पुराना ब्लॉग ओपन किया जुलाई 2018 को तो मुझे एडसेंस को लेकर इतना एक्सप्रिएंस नहीं था और ना ही मुझे ये पता था की कैसे आप अपने एडसेंस अकॉउंट को जल्दी अपूर्व करा सकते है मैंने अपने ब्लॉग मै एक भी पेज नहीं बनाया हुआ था प्राइवेसी पॉलिसी और अबाउट का और ना ही डोमेन ख़रीदा था लेकिन मेरा पैशन था टेक्नोलॉजी मै और एक महीने के अंदर मैंने सत्तर से ज्यादा पोस्ट लिख डाले और एक महीने के बाद मुझे ब्लॉग मै एअर्निंग वाले ऑप्शन मै Sing Up का ऑप्शन आ गया और मैंने एडसेंस के लिए अप्लाई कर दिया और अभी तक ना मैंने डोमेन ख़रीदा था ना ही कोई पेज बनाया था ना ही गूगल के सर्च कंसोल मै कोई भी पोस्ट इंडेक्स किया था तो मैंने अप्लाई तो कर दिया लेकिन दो महीने तक एडसेंस का कोई रिप्लाई नहीं आया ना रिजेक्ट का और अपूर्वेल का !

और मै डोमेन भी नहीं खरीद सकता था क्योंकि मेरे पास क्रेडिट कार्ड नहीं था और उस समय GoDaddy पर डोमेन खरीदने के लिए सिर्फ क्रेडिट कार्ड ही मान्य था !

इसी बिच मैंने एक यूटूबर से कॉन्टेक्ट किया और उन्होंने कहा की वो मेरे ब्लॉग को अपूर्व करा देंगे और एक डोमेन भी देंगे लेकिन बदले मै मुझे उनको हज़ार रूपये देने होंगे मैंने सोचा की मै खुद तो डोमेन नहीं खरीद सकता क्योंकि मेरे पास क्रेडिट कार्ड नहीं है तो चलो क्यों ना ये भी करके देख ले और उन्होंने हज़ार रूपये अपने अकॉउंट मै डलवा लिए और मेरा एडसेंस अकॉउंट अपूर्व नहीं कराया और मेरे हज़ार रूपये गए !
इसके बाद मैंने एक और डोमेन जो एक इंसान ने मुझे दिया था और उन्होंने मुझे यह कहकर दिया था की उसको मेरे आर्टिकल पसंद आये और वो चाहते थे की मै और आगे जाऊ और उन्होंने मेरे ब्लॉग मै सारी कमिया बताई और मुझे एक डोमेन दिया mobilesupportpro जिसपर अभी भी पोस्ट लिखें हुए है जिसपर मै इंग्लिश मै पोस्ट लिखकर afflinate marketing के लिए यूज़ करता हु और मेरे पहले वाले पोस्ट मैंने इस ब्लॉग से डिलीट कर दिए थे वो क्योंकि ये आपको आगे पता चलेगा तो जब उन्होंने यह डोमेन मुझे दिया तो तो मैंने इस डोमेन पर एडसेंस के लिए अप्लाई किया और एडसेंस ने बार बार मेरा ब्लॉग रिजेक्ट किया और बाद मै मुझे पता चला मेरे कंटेंट तो बहोत अच्छे है लेकिन उसमे जो लैंग्वेज है रोमन इंग्लिश वो एडसेंस के समझ से बाहर है यानि एडसेंस उस भाषा को सपोर्ट नहीं करता इसलिए मैंने यहां से मेरे सारे पोस्ट डिलीट करने पड़े और मैंने अभी तक 120 पोस्ट लिख दिए थे और मैंने यहां पर इंग्लिश कंटेंट डालने की सोची और कुछ पोस्ट डालने के बाद एक नये एडसेंस अकॉउंट पर अप्लाई किया जो मेरी सबसे बड़ी गलती थी क्योंकि मैंने एक ही ब्राउज़र मै एक ही नाम से दो एडसेंस अकॉउंट बना लिए और एडसेंस का मेल आ गया की you have exiting adsense account यानि आपके पास दो एडसेंस अकॉउंट है और अब मै इस डोमेन से एडसेंस के लिए कभी अप्लाई नहीं कर सकता था !

 फिर कुछ समय बाद पता नहीं कैसे मेरे हज़ार रूपये मेरे अकॉउंट मै वापस आ गए और शायद उस बन्दे से कोई मिस्टेक हो गयी होंगी लेकिन जो भी था मेरे लिए किसी चमत्कार से काम नहीं था क्योंकि मै एक मिडिल क्लास फॅमिली से था और मेरे पास इतने पैसे नहीं थे तो मैंने उन पैसो से एक डोमेन ख़रीदा healthkijankariforyou और इसपर मै हेल्थ से रिलेटेड पोस्ट लिखने लगा आप अब भी इस वेबसाइट पर जाकर देख सकते है !

और मैंने इस वेबसाइट पर करीब सत्तर पोस्ट लिखें और पेज एडसेंस फ्रेंडली थीम सब था इस वेबसाइट मै लेकिन इसपर भी मेरा एडसेंस अपूर्व नहीं हुआ बाद मै मैंने थोड़ी रिसर्च की तो मुझे पता चला की हेल्थ से रिलेटेड कंटेंट पर एडसेंस अपूर्वेल नहीं देता मेरे तो मानो पेरो तले जमीन ही खिसक गयी और फिर मैंने ये बात थी नवंबर 2018 की और मैंने करीब तीन महीने तक एक भी पोस्ट नहीं लिखा और सारी एडसेंस की जानकारी और पॉलिसी पढ़ने मै दो महीने लगा दिए और और 25 जनवरी 2019 को एक और नया डोमेन लिया जिसका नाम है www.monurajput.com और इसपर मैंने बीस पोस्ट लिखें हर पोस्ट हज़ार वर्ड के या फिर उससे ज्यादा एडसेंस फ्रेंडली थीम नये नाम से एडसेंस पूरी तरह अपनी वेबसाइट को परफेक्ट बनाकर एडसेंस के लिए अप्लाई कर दिया और दस से पंद्रह दिन बाद 12 फरवरी को मेरा एडसेंस अपूर्व हो गया !

और मैंने मेरे डोमेन mobilesupportpro पर भी इंफोलिंक का अपूर्वेल लिया है !

दोस्तों मैंने एडसेंस को अपूर्व कराने मै और ब्लॉग्गिंग को पूरी तरह समझने मै मुझे सात महीने लगा दिए और मैंने इतना समय इसलिए दिया क्योंकि मेरा पैशन है ब्लॉग्गिंग लेकिन पैशन से कुछ नहीं होता उसके साथ होना चाहिए भरपूर मात्रा मै एक्सप्रिएंस और ज्ञान और इसी मै मुझे सात महीने लग गए हालांकि ज्ञान था मुझे बहोत था लेकिन एडसेंस की पॉलिसी और पोस्ट कैसे लिखा जाता है इन चीज़ो को जानने मै मुझे सात महीने लग गए और मुझे पहले से इतना एक्सप्रिएंस होता तो आज हज़ारो की तादाद मै पोस्ट होते और हमारा ब्लॉग एक अलग लेवल तक पहोच जाता लेकिन मुस्किले तो हर किसी की ज़िन्दगी मै आती है लेकिन यह उनके ऊपर डिपेंड करता है की वह कैसे उन मुश्किलों से निपट पाते है !

मेरे इस पोस्ट और स्टोरी मै बहोत कुछ है सिखने को जैसे आपको ब्लॉग्गिंग मै आने से पहले इसके बारे मै बहोत अधिक ज्ञान होना चाहिए किसी भी फ्रॉड यूटूबर की बातो मै नहीं आना चाहिए और आपको एडसेंस की सभी पॉलिसी ठीक से पता होनी चाहिए हालांकि सभी यूटूबर फ़्रॉड नहीं होते जहाँ पर एक बन्दे ने पैसे लिए वही पर दूसरे बन्दे ने मुझे फ्री मै डोमेन दिया क्योंकि उसको पता था की मेरे काम मै दम है !

दोस्तों एक और बात आज के समय मै जो भी नया blog ओपन करता है उसे एडसेंस पर अपूर्व कराने की जल्दी लगी हुई होती है जो की शुरुआत मै मैंने भी किया और ऐसे मै आप बहोत ज्यादा time waste कर देते है लेकिन दोस्तों आपको ऐसा नहीं करना चाहिए आपको कुछ time ब्लॉग को देना चाहिए उसपर कुछ आर्टिकल लिखने चाहिए और अच्छे से customize करके ही एडसेंस के लिए अप्लाई करिये जो की मेरा खुद का एक्सपीरियंस है !

तो आज का आर्टिकल यही पर समाप्त होता है मिलते है अगले आर्टिकल मै तब तक के लिए बोलो राधे राधे !