दोस्तों आज के दौर मै यह तो ही नहीं सकता की किसी के पास मोबाईल फ़ोन ना हो पर कभी आपने यह सोचा है की आखिर आप जैसे ही फ़ोन उठाते हो तो हेलो ही क्यों बोलते हो आवाज़ ठिक से ना आने पर हेलो हेलो ही क्यों चिल्लाते हो आज हम इसी के बारे मै जानेंगे की आखिर फ़ोन उठाते ही हम हेलो क्यों बोलते हो !

दरअसल हेलो शब्द पुराने फ़्रांसिसी शब्द होला से निकला है होला शब्द का मतलब होता है कैसे हो ! समय बदला और 1300 मै बोलचाल मै इसे हालो बोला गया ! और इसके 200 साल बाद इसे हलु बोला जाने लगा !
 फिर थोड़ा समय बदला और इसे लोगो व्दारा होलो बोला जाने लगा इस शब्द को हैल्लो कैसे बोला जाने लगा ये आपको आगे पता चलेगा !

सन 1876 मै ज़ब ग्राहम बेल व्दारा टेलीफोन का इस्तेमाल किया जाने लगा तो लोगो को बहोत दिक्कत होती थी सामने वाले तक अपनी आवाज़ पहोचाने मै वो बहोत से सब्द का उपयोग करते थे जैसे क्या आप मेरी आवाज़ सुन पा रहे है जो की बहोत लम्बे वाक्य हो जाते थे इसलिए ग्राहम ने अहोये शब्द का प्रयोग सुरु किया जो की एक प्राचीन शब्द है जिसका मतलब भी हैल्लो ही होता है उन्होंने इसे बहोत प्रचलन मै लाने की कोशिश की !

एक दिन जब उन्होंने थॉमस एडिसन को फ़ोन किया तो थॉमस ने अहोये शब्द को गलत सुन लिया जो की उन्हें पसन्द नहीं आया इसके बाद 1877 मै उन्होंने टेलीफोन पर हैल्लो बोलने का प्रश्ताव रखा और आज उन्ही की देन ही की हम फ़ोन उठाते ही हेलो बोलते है !

तो यही था वो राज़ जिसकी वज़ह से हम फ़ोन उठाते ही हेलो बोलते है उम्मीद है आपको पसन्द आया होगा यह आर्टिकल !🙏🙏🙏