अमिताभ बच्चन के जीवन से जुडी कुछ अनोखी बाते और इनकी बायोग्राफी !

हैल्लो दोस्तों आज मै फिर से आ गया हु एक और मोटिवेशन स्टोरी को लेकर और यह स्टोरी है बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन जी की जिन्हे बहोत सारे लोग अमित सर के नाम से भी जानते है दोस्तों आज के इस आर्टिकल मै हम जानेंगे की कैसे अमित सर बॉलीवुड मै आये कैसे उनकी हाइट लम्बी होने के कारण उन्हें फिल्मो मै नहीं लिया गया सारी बाते करेंगे आज के इस आर्टिकल मै तो चलिए आज का आर्टिकल शुरू करते है !

दोस्तों अमिताभ बच्चन को चार बार नेशनल फ़िल्म अवार्ड मिल चूका है और भारत सरकार ने इनको पदम श्री और पदम विभूषण से भी सम्मानित किया है दोस्तों अमिताभ बच्चन की सफलता को तो हर कोई जानता है लेकिन इसके पीछे इन्होने कितना संघर्ष किया उसे बहोत ही कम लोग जानते है और सबसे ज्यादा दिक्कत अमिताभ को तब हुई जब इनकी लगातार फिल्मे फ्लॉप होती रही और बहोत से लोगो ने तो इनको यह तक कह दिया की फिल्मो मै कुछ नहीं होगा वापस लौट जाओ लेकिन अमिताभ बच्चन ने कभी हर नहीं मानी तो बिना आपका समय गवाए जानते है इनकी कहानी को शुरू से !

अमिताभ बच्चन का जन्म 12 अक्टूबर 1942 मै उत्तरप्रदेश के इलाहबाद मै हुआ अमिताभ बच्चन के पिता का नाम हरिवंश राय बच्चन था जो एक जाने मैने कवि थे और इनकी मा का नाम तेजी बच्चन था जो एक जो एक समाज सेविका थी !

दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी की अमिताभ बच्चनका नाम इनके माता पिता नहीं इंकलाब रखा था क्योंकि उस समय सवतंत्र होने के लिए यह नारा जोर जोर से दिया जाता था लेकिन अमिताभ बच्चन के पिता हरिवंश राय के दोस्त सुमित्रा नंदन पंत के कहने पर इनका नाम अमिताभ बच्चन रख दिया गया !


क्या आपको पता है अमिताभ के नाम का क्या मतलब होता है दोस्तों अमिताभ के नाम का मतलब होता है एक ऐसा प्रकाश जिसका कभी अंत ना हो !

अमिताभ बच्चन की प्रारंभिक शिक्षा इलाहबाद के संत मेरिट स्कूल मै हुई उसके बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई के लिए एक बहोत फेमस कॉलेज शेरवुड कॉलेज मै एडमिशन ले लिया जहाँ वह नाटकों मै भी भाग लेते थे उसके बाद इन्होंने दिल्ली के करोड़ीमल कॉलेज आये जहाँ पर उन्होंने ग्रेजुशन की और यहाँ से ग्रेजुशन करने के बाद वह बहोत सी जगह पर नौकरी के लिए गए लेकिन उनको कही पर भी नौकरी नहीं मिली !

और फिर उन्होंने अपने दोस्त के कहने पर ऑल इंडिया रेडियो मै वॉइस नरशन के लिए अप्लाई किया जहाँ पर उनकी आवाज़ को मोटा बता कर उनको रिजेक्ट कर दिया गया और हर तरफ से निराशा मिलने के बाद वह अपने दोस्तों के साथ कोलकाता चले गए और यहाँ पर इन्होंने पाँच साल तक बहोत कम सैलरी मै काम किया !

दोस्तों चाहे वो कोई भी काम क्यों ना कर रहे हो लेकिन कही ना कही उनके मन मै एक ख्याल था की वो एक्टिंग के लिए बने है और यही बात सोचकर वो मुंबई आ गए दोस्तों आपको याद होगा की आल इंडिया रेडियो मै जहा पर उनकी आवाज़ को मोटा और भद्दा बता कर रिजेक्ट कर दिया था वही पर उनको बॉलीवुड मै वॉइस नरेशन के तोर पर काम मिला जहाँ पर उन्होंने फ़िल्म बोहुसून शोम के लिए काम किया !

और उनको पहली बार 1969 मै सात हिंदुस्तानी फ़िल्म मै काम करने का मौका मिल गया लेकिन दुर्भाग्यवश यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर बहोत बुरी तरह से फ्लॉप हो गयी लेकिन इसके बाद उन्होंने 1970 मै बॉम्बे टेल्की और 1971 मै परवान मूवी मै काम किया लेकिन यह मूवी भी कुछ खाश सफल नहीं हुई लेकिन आग चलकर उन्हें सुपरस्टार राजेश खन्ना के साथ फ़िल्म आनंद मै काम करने का मौका मिल गया और इस फ़िल्म से उनको काफ़ी पहचान मिली और तब से इन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा और उनको इस फ़िल्म के लिए एक अवार्ड भी मिला जो था फ़िल्मफेर अवार्ड बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर !

लेकिन उनको असली पहचान तरह फिल्मो के बाद आई फ़िल्म ज़ंज़ीर से मिली और यह फ़िल्म उस समय की सबसे बड़ी फिल्मो मै से एक थी और इस फ़िल्म नहीं अमिताभ को रातो रात सुपरस्टार बना दिया और लोग इन्हे एंग्री यंग मेन के नाम से भी जानने लगे और उन्होंने एक के बाद एक ब्लॉकबस्टर फ़िल्म दी !


लेकिन 26 जुलाई 1982 को कुली फ़िल्म की शूटिंग के दौरान एक सीन मै उनको काफी चोट लगी और हालत ऐसी हो गई की सबको लगने लगा की वह अब जीवित नहीं बच पाएंगे लेकिन डॉक्टर की कोशिश और उनके चाहने वालों की दुवाये काम आयी और उनका इलाज सफल रहा और 1983 मै कुली फ़िल्म उस साल की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फ़िल्म बन गयी लेकिन इस चोट के लगने के बाद उन्हें लगा की वह अब फिल्मे नहीं कर पाएंगे इसलिए उन्होंने अपने पैर राजनीती मै रख दिए लेकिन वह राजनीती मै ज्यादा दिन नहीं रुक पाए और 1988 मै शहंशाह से उन्होंने बॉलीवुड मै फिर फ़िल्म दी !

लेकिन इसके बाद उनकी बहोत सी फिल्मे अशफल रही लेकिन 2000 मै आयी फ़िल्म मोह्बते ने उनको फिर से काफी कामयाबी दिलाई और फिर उसके बाद उन्होंने टीवी सीरियल मै भी कदम रखा और कौन बनेगा करोड़पति ने तो सारे टी आर पी रिकॉर्ड तोड़ डाले !

अमिताभ ने अपने जीवन मै बहोत सारे पुरुष्कार जीते जिनमे तीन रास्टीय पुरुस्कार और बारह फ़िल्मफेर पुरुस्कार है अमिताभ सर के बारे मै एक चीज बहोत ज्यादा शिक्षा देती है की उन दिनों मै जिन एक्टर की पहली फिल्मे ही हिट गयी हो वो बाद मै अपना करियर बॉलीवुड मै नहीं बना पाए लेकिन अमिताभ की शुरू की फिल्मे फ्लॉप गयी और बाद मै उन्होंने बॉलीवुड मै झंडा गाड़ दिया !

आपको जानकर हैरानी होगी की जब वह राजनीती मै थे तो उनकी वोटिंग मै चार हज़ार वोट ऐसे थे जिनमे होठो से थप्पा लगाया गया था लेकिन यह वोट कैंसिल कर दिए गए !

अमिताभ ने अपनी ही फिल्मो मै पच्चीस से ज्यादा गाने गाये है अमिताभ एक ऐसे एक्टर है जिन्होंने एक फ़िल्म मै अपने बेटे का बेटा बनने का किरदार निभाया और एक फ़िल्म मै तो इन्होने ट्रिपल रोल किया है जी हा अमिताभ बच्चन को पंजाबी मराठी और गुजरती जैसी भासाये भी आती है !


उम्मीद है दोस्तों आज का यह आर्टिकल आपको बहोत पसंद आया होगा और कमेंट मै बताये की मै अगली किस हीरो और वयक्ति की बायोग्राफी लिखू और ऐसे मोटिवेशन पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को फ्री मै सब्सक्राइब करें ताकि आने वाले पोस्ट के नोटिफिकेशन आपको सबसे पहले मिल जाये !