Best life changing lines motivational quote's

16 से 30 की उम्र में लोग ये एक
गलती कर देते है जिसकी वजह
से वो जीवन मे सफल नहीं हो पाते.

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते है जब व्यक्ति के जीवन में matu-
rity आती है तभी वह सही दिशा में आगे बढ़ पाता है.हम सभी को
अलग अलग उम्र में maturity आती है किसी को 17 साल में,
किसी को 25 साल में, किसी को 30 साल में और किसी किसी को तो
जीवन भर नहीं आती.कई लोगों को कम उम्र में समझ आ जाता है कि
मेरे लिए ये सही है मुझे इस फिल्ड में आगे बढ़ना है और कई लोगों
को बहुत ठोकर खाने के बाद समझ आता है कि मुझे ये करना है.उम्र
मैटर नहीं करती की आपमें किस उम्र में maturity आई है.

मैटर ये बात करती है कि मान लो 25 साल की उम्र में आपको ये समझ
आ गया कि मुझे अपनी लाइफ में ये ये करना है और आपने दिमाग
लगा कर प्लान बना लिया कि मेरे लिए ये चीज़ सही है लेकिन अब
एक बात सोच कर देखिये आपने अच्छा प्लान तो बना लिया लेकिन
इसकी क्या गारन्टी है कि आपका बनाया हुआ ये प्लान आपको सफल
बना देगा? क्या आप सच मे आपके बनाये हुए प्लान से अमीर ।
बन पाओगे या अपनी फील्ड में सफल हो पाओगे? या फिर जीवन
भर मेहनत कर करके थक जाओगे और अंत मे कुछ हासिल
नहीं होगा.आखिर कौनसा रास्ता सही है?

एक उदाहरण से समझने की कोशिश कीजिये-अगर आपको एक
गणित का सवाल हल करने को दिया जाए और आपको एक फार्मूला
दिया जाए की इस फार्मूले की मदद से आप इस सवाल को हल कर
लोगे.लेकिन आप मन ही मन सोच रहे हो इस सावल को मैं अपने नए।
फार्मले से हल करूँगा लेकिन आप सालों लगे रहोगे तब भी आप उस
सवाल को हल नही कर पाओगे.उस सवाल को हल करते करते आपका
जीवन खत्म हो जाएगा तब भी आपको सही रिजल्ट नहीं मिलेंगे.और
अंत मे आप सोचोगे मेहनत के बाद भी रिजल्ट नहीं मिला.

अब आप खुद सोचो सिर्फ एक गलत फार्मूले की वजह से एक
गणित का छोटा सा सवाल हल नहीं हो पाया और जीवन बरवाद
हो गया, तो फिर आप खुद सोच कर देखो आज हम जो फैसला
ले रहे है वो थोड़ा भी गलत हुआ तो हमे सफलता कभी नहीं
मिलेगी. ऐसी situation में क्या करें ? आज एक बहुत बड़ी
बात बताने जा रहा हूँ अगर इसे समझ गए तो आप एक दिन
जरुर गारंटी के साथ अपनी फील्ड में सफल होंगे.

अपने विचारों को कचरे के डिब्बे में डाल दीजिए.अब मैं इतनी ।
बड़ी बात क्यूं कह रहा हूँ समझने की कोशिश कीजिये-आप इन 4
लोगों से सवाल पूछे-पहला-आप एक मजदूर से पूछे सफलता |
कैसे मिलती है, दूसरा-आप एक दुकानदार से पूछे सफलता कैसे
मिलती है,तीसरा-आप एक बिजनेसमैन से पूछे सफलता
कैसे मिलती है,और अंत मे चौथा आप दुनिया के सबसे धनी
' व्यक्ति बिल गेट्स से पूछे सफलता कैसे मिलती है.

इन चारों में आपको सबसे सही और बड़े लेवल की सलाह बिल
गेट्स से मिलेगी क्योंकि वे अपने जीवन मे महान सफलता
हासिल कर चुके है और याद रखना हर व्यक्ति आपको उतनी सी
सलाह देगा जितनी उसे नॉलेज है.इसलिए जीवन मे महान
सफलता चाहिये तो उस व्यक्ति की बातों को अपने जीवन में
' आखें बंद करके उतार लीजिये जिसके जैसा आप बनना
चाहते है और यकीन मानिए अगर आप उनकी बातों को फॉलो
करते है तो एक दिन आप भी बेहद सफल होंगे.

इसलिए आप क्या मानते है, क्या सोचते है उसके according
एक्शन लेने की मत सोचिये बल्कि जिसके जैसा आप बनना चाहते
है उसके विचारों को अपने जीवन मे अपनाए तभी आप गारंटी के
साथ सफल होंगे.नहीं तो लाख कोशिशों के बाद भी कुछ हाथ नहीं
लगेगा.दोस्तों अगर इस से आपकी थोड़ी भी मदद हई होगी तो
इसे शेयर जरूर करना,आपके एक शेयर से किसी दूसरे व्यक्ति को
उसके जीवन मे एक सही दिशा मिलेगी और आपकी वजह से
किसी का जीवन बरवाद होने से बच जाएगा.

Mini habits by stephen guise बुक के लेखक ने आपकी
ही तरह एक बार डिसाइड किया कि अब इस नए साल से मैं हर दिन 301
मिनट work out करूँगा.लेकिन बहुत मेहनत के बाद भी वे 30 |
मिनट work out करने का रूटीन नहीं बना पा रहे थे.फिर उन्होंने
डिसाइड किया मैं 30 मिनट work out करने की बजाए हर दिन सिर्फ
1 push ups करूंगा.1 push ups करना उन्हें काफी इज़ी लगा
इसलिए उन्होंने पहले ही दिन 1 की जगह 5 push ups की.इससे।
उन्हें एक बात समझ आई कि आखिर ज्यादातर लोग अपने डिसाइड
किये हुए गोल को क्यों अचीव नहीं कर पाते और आखिर लोग साल
की शुरुआत में नए गोल बना कर उसे पूरा क्यों नहीं कर पाते.

उन्होंने एक बुक लिखी जिसका नाम mini habits smaller
habits,bigger results है इंस बुक में उन्होंने कुछ बातें बताई
जो आज मैं आपसे शेयर करने वाला हूँ.जिसे समझ कर आप 2020 में।
बहुत कुछ अचीव कर पाओगे.(1).सबसे पहली बात जो उन्होंने बताई।
की हम लोग शुरुआत में ही गलत तरीके से गोल अचीव करने का टाइम सेट
करते है.यदि सच में आपको अपना गोल अचीव करना है तो शुरुआत
में stupid से छोटे छोटे गोल बनाओ.उदाहरण- यदि आपको पढ़ने
की आदत नहीं है और आप 1 घण्टे पढ़ने का गोल बनाना चाहते हो तो
शुरुआत से ही 1 घण्टे मत पढ़ो बल्कि 1 पेराग्राफ या 1 पेज बस पढ़ो.


इस चीज़ को रोज़ करके इसकी हैबिट बनाओ.कहने का अर्थ ये है आपका
गोल इतना छोटा होना चाहिए की आपके फेल होने के चांस शन्य हों. ।
लोग शरुआत में ही ज्यादा चीज़ ट्राई करने लगते है जिसे करने में बहत
। मेहनत लगती है और यदि हम अपने गोल को अचीव नहीं कर पाते
तो हमें दुःख होता है लेकिन यदि आप छोटे छोटे गोल सेट करके उसे हर
दिन पूरा करेंगे तो ऐसा करने से आपको अच्छा फ़िल होगा और आपके
अंदर एक strong हैबिट भी बिल्ड होगी.ये छोटी सी चीज आपको एक
बड़े गोल को अचीव करने के लिए तैयार करते चले जाएगी.

(2).दोस्तों मान लो यदि आप बाहर से घूम कर आये हो या आप 4 घंटे
से मोबाइल यूज़ कर रहे हो उसके बाद आप सोचो की मैं 2 घंटा पढ़
लेता हूँ तो ऐसा कर पाना मुश्किल हो जाता है physics भी इस
बात को मानता है की-यदि आपका दिमाग एकदम थका हुआ rest
mode पर है और यदि आपको काम करना है तो आपको rest
mode से motion mode पर आना पड़ता ही है तभी आप
ध्यान लगा कर काम कर पाते हो लेकिन यदि आपके गोल बहुत छोटे है।
तो आप थके हुए होने के बाद भी उसे आसानी से पूरा कर जाओगे.

उदहारण-आप कितने भी थके रहो लेकिन यदि आपको बुक का एक पेज या
एक पैराग्राफ ही बस पढना हो तो आप आसानी से पढ़ जाओगे.जब आप।
थके हुए होने के बाद भी अपने काम को आसनी से पूरे कर जाओगे तो इससे
_ आपको एक winner के जैसी फीलिंग आएगी और आपको पॉजिटिव
फील होगा जिससे आपका काम करने का मन बढ़ेगा.(3).अब सवाल ये आता
है हम ये छोटे छोटे पूरे कर लेंगे तो इससे हमे क्या फायदा होगा-दोस्तों इन।
छोटे गोल को पूरा करने की वजह से आपके काम मे consistency |
आएगी जिससे भविष्य में ये सब आपकी आदत बन जाएगी और बहुत देर काम
कर पाओगे.अभी हमारा फ़ोकस काम करने की आदत डालना है.

(4).एक व्यक्ति जो काफी मोटा था जो बहुत मीठा खाता था उसने डिसाइड
किया कि मैं दिन में 6 बार मीठा खाता हूं लेकिन इस साल से मैं मीठा खाना।
बंद कर दंगा लेकिन वो सिर्फ 2 दिन ही बिना मीठा खाये रह पाया और उसने
फ़िर से मीठा खाना शुरू कर दिया.दोस्तों जब लोग, बड़े और मीडियम गोल
सेट करते है तो वो उसे पूरा नहीं कर पाते है जिससे उनका self confi-
dence कम होने लगता है उनका खुद पर से भरोसा कम होने लगता है।
और फिर लोग सोचते है की 'नहीं मझसे नहीं हो सकता' और फिर वो कभी
ट्राई ही नहीं करते.लेकिन mini habit,छोटे गोल बना कर उसे पूरा
करने की आदत लोगों का confidence बढ़ाती चली जाती है.

यदि वो लकड़ा मीठा खाना बंद करने की वजाए ये सोचता कि मैं 6 की जगह
सिर्फ 4 बार ही मीठा खाऊंगा तो ऐसा करना उसके लिए इज़ी होता और ।
इससे उसका confidence बढ़ता.इसलिए नए साल में बड़ा गोल बनाने
की बजाए छोटे छोटे गोल बनाइये इससे आप बड़े गोल तक भी आसानी
से पहुच जाओगे.दोस्तों यदि आपने इस पोस्ट का पहला और दूसरा पॉर्ट नहीं
__पढ़ा है तो एक कदम सफलता की ओर पेज पर जाकर अभी के अभी ।
पढ़ें.दोस्तों नए साल में यदि आप अपने दोस्त को कुछ गिफ्ट देना चाहते है।
तो उससे ये पोस्ट शेयर कर देना ये पोस्ट बहुत काम आएगी.

दोस्तों 2020 की तैयारी के लिए अभी मैं लगातार पोस्ट डालने वाला हूँ जो
आपके बेहद काम आएंगे अगर आप उन्हें मिस नहीं करना चाहते हो तो हमारे ।
ब्लॉग को अभी subscribe करें. दोस्तों आपको ये पोस्ट
अच्छी लगी होगी तो लाइक करें और निवेदन है कृपया कमेंट करके जरूर
बताएँ की आपको ये पोस्ट कैसी लगी? Good or Bad? ताकि हमें भी।
पता लगे कि हम अच्छा ज्ञान बांटने में कितना सफल हो रहे हैं.इस पोस्ट को।
शेयर जरूर करना आपके एक शेयर से किसी को सही रास्ता मिलेगा.